Indian Railway main logo Welcome to Indian Railways
View Content in English
National Emblem of India

चिरेका के बारे में

विभाग

लोको पोर्टल

समाचार और भर्ती

प्रदायक सूचना

निविदा सूचना

हमसे संपर्क करें



Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
ट्रैक्शन मोटर्स

परिचय

चिरेका ने वर्ष 1969 से एमजी-1580 मोटर्स और टाओ-659 मोटर्स के एल्सथॉम डिजाइन के साथ कर्षण मोटर का निर्माण शुरू किया और एचएस 15250ए, 850 एचपीकर्षण मोटर्स पर स्विच किया, जिसके लिए हिताची, जापान से तकनीक प्राप्त हुई। एचएस:15250A कर्षण मोटर का उत्पादन वर्ष 1988 में प्रारंभ किया गया। वर्ष 2016-17 से डब्ल्यूएपी-4 / डब्ल्यूएजी-7प्रकार के पारंपरिक विद्युत रेलइंजन के उत्पादन को बंद होने के कारण हिताची कर्षण मोटर का उत्पादन बंद कर दिया गया।

अब बॉम्बार्डियर ट्रांसपोर्टेशन, स्विटजरलैंड से इंजनों की 3 फेज प्रौद्योगिकी के आगमन के साथ, चिरेका मालवाही (डब्ल्यूएजी-9) और यात्रीवाही (डब्ल्यूएपी-5 और डब्ल्यूएपी-7) रेलइंजनों के लिए 1000 एचपी और 1500 एचपी अत्याधुनिक 3-फेज कर्षण मोटरों का निर्माण करने के लिए तत्पर है।

चिरेका में निर्मित विभिन्न प्रकार के कर्षण मोटर निम्नलिखित हैं: -

3-फेज कर्षण मोटर टाइप 6एफआरए6068 और 6एफएक्सए-7059

डब्ल्यूएजी-9 और डब्ल्यूएपी-7 रेलइंजनों के लिए 3 फेज कर्षण मोटर टाइप 6एफआरए-6068 और डब्ल्यूएपी-5 रेलइंजन के लिए 6एफएक्सए-7059 क्रमशः वित्तीय वर्ष 1998-99 और 1999-2000 से चिरेकाद्वारा स्वदेशी रूप से निर्मित किए जा रहे हैं। 3-फेजकर्षण मोटर के उत्पादन के साथ, चिरेकाने अत्याधुनिक, 3-फेज प्रौद्योगिकी के युग में प्रवेश किया है।